Saturday, 20 April 2024

Muzaffarnagar News : युवक ने चिट्ठी में बयां किया अपना दर्द और मार ली खुद को गोली

Muzaffarnagar News : एक युवक ने अपनी पत्नी, सास, ससुर व सालों पर उत्पीड़ऩ करने का आरोप लगाते हुए एक…

Muzaffarnagar News : युवक ने चिट्ठी में बयां किया अपना दर्द और मार ली खुद को गोली

Muzaffarnagar News : एक युवक ने अपनी पत्नी, सास, ससुर व सालों पर उत्पीड़ऩ करने का आरोप लगाते हुए एक चिट्ठी में अपना दर्द बयां किया। युवक ने यह खत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम लिखा है, जिसके बाद युवक ने तमंचे से गोली मारकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। मृतक के छोटे भाई की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करके पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेज दिया।

थाना रतनपुरी क्षेत्र के गाँव कितास निवासी रामकुमार पुत्र राजपाल का विवाह 15 वर्ष पूर्व कस्बा खतौली के मोहल्ला सैनी नगर निवासी अनिल की पुत्री वन्दना के साथ हुआ था। बताया गया कि शादी के बाद से ही पति रामकुमार से अनबन रहने के चलते वन्दना ने कई वर्ष पूर्व मायके में अपने ऊपर तेल छिड़ककर आग लगा ली थी। गम्भीर रूप से झुलसी वन्दना लम्बे इलाज के बाद सही हो गयी थी। आज सुबह रामकुमार ने घर के एक कमरे में बन्द होकर तमंचे से खुद को गोली मार ली। गोली चलने की आवाज़ से कमरे की और दौड़े परिजनों में रामकुमार को खून से लथपथ ज़मीन पर पड़ा देख हड़कम्प मच गया। आनन फानन परिजन घायल रामकुमार को एक चिकित्सक के यहाँ लेकर पहुँचे। चिकित्सक ने रामकुमार को मृत घोषित कर दिया।
रामकुमार द्वारा आत्महत्या करने से परिजनों में कोहराम मचने के साथ ही गाँव मे सनसनी फैल गयी। सूचना पर रतनपुरी प्रभारी निरीक्षक आशुतोष कुमार ने दल बल के साथ गाँव पहुँचकर शव कब्ज़े में लेकर जाँच पड़ताल शुरू कर दी।

पुलिस ने मृतक रामकुमार द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम लिखा गया सुसाईड नोट भी अपने कब्ज़े में ले लिया। सुसाईड नोट में मृतक रामकुमार ने पत्नी, सास, ससुर व सालों पर शादी के बाद से ही उत्पीडऩ किये जाने से परेशान होकर आत्महत्या करने जैसा आत्मघाती कदम उठाने की बात लिखकर, मौत के बाद सारी संपत्ति बच्चों के नाम कराने के अलावा पत्नी वन्दना को फूटी कौड़ी भी ना देकर इसे फाँसी की सज़ा दिलाने की गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लगायी है। मृतक के छोटे भाई साहब सिंह ने थाने में तहरीर देकर बताया कि मायके में वन्दना द्वारा आग लगाने के बाद भाई रामकुमार ने इलाज में 20 लाख रूपये खर्च किये थे। जिसके चलते रामकुमार को अपने हिस्से की साढ़े सात बीघा ज़मीन बेचनी पड़ी थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके शव पोस्टमार्टम को भेज दिया।

Related Post