Saturday, 13 July 2024

नटवरलाल को भी पीछे छोड़ दिया उत्तर प्रदेश के युवक ने, बना फर्जी अफसर

UP News : उत्तर प्रदेश के एक युवक ने नटवरलाल को भी पीछे छोड़ दिया है। नटवरलाल तो ठग बनकर लोगों…

नटवरलाल को भी पीछे छोड़ दिया उत्तर प्रदेश के युवक ने, बना फर्जी अफसर

UP News : उत्तर प्रदेश के एक युवक ने नटवरलाल को भी पीछे छोड़ दिया है। नटवरलाल तो ठग बनकर लोगों को ठगता था। उत्तर प्रदेश के इस युवक ने तो सरकार के नाम पर ही ठगी कर डाली। उत्तर प्रदेश का यह अनोखा युवक एक-दो दिन नहीं पूरे 8 महीने तक बाकायदा इनकम टैक्स अफसर बनकर घूमता रहा। वह भी बिल्कुल फर्जी IT अफसर।

घर वालों ने दे दी दावत, फिर आ गई पुलिस

नटवरलाल को भी ठगी के मामले में मात देने वाला यह मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर का है। यहां एक युवक 8 महीने तक फर्जी इनकम टैक्स अफसर बनकर सबकी आंखों में धूल झोंकता रहा। उसने अपने घर वालों को भी बताया था कि वह IT अफसर बन गया था। बेटे के अफसर बनने की खुशी में घर वालों ने शहर भर के लोगों को दावत भी दी थी। उत्तर प्रदेश भर में रहने वाले अपने रिश्तेदारों को भी दावत दी थी फिर अचानक जब पुलिस उनके घर आई तो सच्चाई जानकर घरवालों के होश उड़ गए।

क्या है पूरा मामला ?

आपको बता दें कि यह मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर का है। कानपुर में रहने वाले रितेश शर्मा को कानपुर पुलिस ने ठगी वह जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार किया है। हुआ यूं कि उत्तर प्रदेश की कानपुर पुलिस ने आचार संहिता लागू होने के बाद शहर में चेकिंग अभियान चलाया हुआ है। 3 अप्रैल को शाम के समय एसीपी कल्याणपुर फोर्स के साथ रावतपुर इलाके में चेकिंग कर रहे थे. इतने में एक काले रंग की कार आई जिसमें बड़ी सी नेम प्लेट लगी थी और उसमें भारत सरकार और आयकर अधिकारी लिखा हुआ था। UP News

जब पुलिस वालों ने पूछताछ की तो रितेश शर्मा नाम के इस युवक ने हनक में बताया कि वह आयकर अधिकारी है। इस बीच एक पुलिस वाले ने पूछा कि वह किस पोस्ट पर तैनात है तो रितेश जवाब नहीं दे पाया। शक होने पर पुलिस वालों ने उससे सख्ती से पूछताछ की और थाने ले गई, जहां पूरा भेद खुल गया।

पूछताछ में सामने आया कि रितेश पिछले आठ महीने से फर्जी आयकर अधिकारी बनकर घूम रहा है। इतना ही नहीं उसने अपने घरवालों को भी ये बता रखा था कि वह इनकम टैक्स में अधिकारी बन गया है।

रितेश शर्मा रोजाना नौकरी के वक्त पर घर से निकल जाता और शाम के वक्त वापस आता. पहले उसके पास एक बाइक थी लेकिन नौकरी की बात कहकर उसने अपने पिता से कार ले ली। उसने पिता से कहा कि आपका बेटा एक आयकर अधिकारी है। अच्छा नहीं लगेगा अगर वो बाइक से जाएगा। जानकारी के मुताबिक, रितेश एसएससी की तैयारी कर रहा था। तैयारी के बाद भी सेलेक्शन न होने के कारण उसने फर्जी ऑफिसर बनने की योजना बनाई. फिलहाल, पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने उसकी कार, फर्जी नंबर प्लेट, फर्जी आईडी कार्ड आदि को जब्त कर लिया है। साथ ही पिछले आठ महीने के बैंक अकाउंट को भी खंगाल रही है कि कहीं उसने ठगी तो नहीं की है।

UP News

“पति और प्रेमी दोनों के साथ रहूंगी”, जिद के चलते खंभे पर चढ़ी तीन बच्चों की मां

ग्रेटर नोएडा– नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देश-दुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post