Friday, 19 July 2024

उत्तर प्रदेश में हीट वेव ने मचाया हाहाकार, सबसे ज्यादा मौतें

UP News : उत्तर भारत में प्रचंड गर्मी ने हाहाकार मचा रखा है। हालांकि दिल्ली में शुक्रावर दोपहर को कुछ…

उत्तर प्रदेश में हीट वेव ने मचाया हाहाकार, सबसे ज्यादा मौतें

UP News : उत्तर भारत में प्रचंड गर्मी ने हाहाकार मचा रखा है। हालांकि दिल्ली में शुक्रावर दोपहर को कुछ इलाकों में बारिश दिल्ली-एनसीआर का मौसम थोड़ा ठंडा हुआ है। लेकिन गर्मी ने उत्तर प्रदेश ने मौतों का आंकड़ा बढ़ा दिया है। देशभर में हीटस्ट्रोक से 143 लोगों की मौतें हो चुकी है। इनमें सबसे ज्यादा मरने वालों की संख्या उत्तर प्रदेश में है।

यूपी में हुई सबसे ज्यादा मौतें

आपको बता दें कि इस साल गर्मी का प्रकोप इतना खतरनाक रहा कि अब तक देश में गर्मी से रिकॉर्ड 143 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। साथ ही 41,789 लोग हीटस्ट्रोक से पीड़ित हो गए है। जाहिर है कि यह आंकड़े 1 मार्च से लेकर 20 जून तक के हैं। हीटवेव से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या अभी और बढ़ सकती है, क्योंकि गर्मी संबंधी बीमारी और मौतों की सर्विलांस करने वाले नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने कई राज्यों के आंकड़ों को अभी तक अपडेट नहीं किया है। साथ ही कई स्वास्थ्य केंद्रों को भी हीटवेव से होने वाली मौतों का आंकड़ा अभी अपडेट करना है।

UP News

एक दिन में ही हुई 14 लोगों की मौत

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 20 जून को ही हीटस्ट्रोक के कारण 14 लोगों की मौत हो चुकी है और 9 अन्य मौतों को लेकर भी आशंका जताई जा रही है। इसके अलावा मार्च-जून में गर्मी से मरने वालों की कुल संख्या 143 हो गई है। उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है, जहां सबसे ज्यादा 35 लोगों की मौत हो गई। वहीं दिल्ली में 21, बिहार और राजस्थान में 17-17 लोगों की मौत हीटवेव से हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने गर्मी को देखते हुए सभी अस्पतालों को एडवाइजरी जारी की है कि वे हीटवेव से पीड़ित मरीजों के लिए विशेष यूनिट बनाएं। अब स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों से अस्पतालों में जाकर इन विशेष यूनिट को चेक करने का निर्देश दिया है। साथ ही हीटवेव से हो रहीं मौतों की समीक्षा करने का भी निर्देश दिया है।

क्या हैं हीटस्ट्रोक के लक्षण

बता दें कि देश के कई हिस्सों में इन दिनों 50 डिग्री सेल्सियस के आसपास का तापमान की मार झेल रहे है। तेज तापमान की वजह से शरीर का तापमान भी बढ़ रहा है। ज्यादा देर तक धूप में रहने के चलते हीटस्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। जिन लोगों को ज्यादा गर्मी झेलने की आदत नहीं है, उन्हें हीटस्ट्रोक की समस्या ज्यादा होती है। हीटस्ट्रोक में शरीर का तापमान 104 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है या कभी इससे ज्यादा भी हो सकता है। हीटस्ट्रोक में मरीज को सिर में तेज दर्द, सांसों का तेज चलना, उल्टी या जी मिचलाना, बोलने में दिक्कत, चक्कर आने और कन्फ्यूजन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। UP News

इंटरनेशनल योगा डे पर सीमा भाभी ने परिवार संग किया योग, कही ये बात

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें

Related Post