Tuesday, 23 July 2024

उन्नाव बस हादसे में चौंकाने वाला खुलासा, बिना परमिट के सड़क पर दौड़ रही थी बस

UP News : उत्तर प्रदेश के उन्नाव हादसे में बड़ी अपडेट सामने आ रही है। दरअसल उन्नाव में हुए बस…

उन्नाव बस हादसे में चौंकाने वाला खुलासा, बिना परमिट के सड़क पर दौड़ रही थी बस

UP News : उत्तर प्रदेश के उन्नाव हादसे में बड़ी अपडेट सामने आ रही है। दरअसल उन्नाव में हुए बस हादसे के बाद प्रशासन ने हरकत में आया है। इस बस हादसे में 18 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। इस मामले में जांच के दौरान पाया गया है कि दुर्घटनाग्रस्त बस यूपी 95 टी 4729 महोबा जिले के एआरटीओ में रजिस्टर है। जांच के बाद इस केस में खुलासे हुए तो एक बड़े नटवरलाल का नाम सामने आया है। इस ननटवरलाल के नाम एक नहीं, दो नहीं,  बल्कि पूरी 39 बसें रजिस्टर्ड  है। जिनमें से 35 बसें तो बिना फिटनेस और परमिट के एक्टिव है।

उन्नाव हादसे में बड़ा खुलासा

आपको बता दें कि इस बात का पता चलते ही विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया। इसके बाद उन्नाव बस हादसे की कड़ी जोड़ते हुए ट्रैवल एजेंसी के मालिक, ठेकेदार और नटवरलाल के खिलाफ केस दर्ज कराने के लिए पुलिस को तहरीर दी गई है। वहीं बस हादसे के बाद और पड़ताल की गई तो पता चला कि बुंदेलखंड के महोबा से लेकर दिल्ली और बिहार तक माफियों द्वारा एक सिंडीकेट बनाकर बसों का संचलान किया जा रहा रहै।

UP News

बिना परमिट की थी बस

बताया जा रहा है कि उन्नाव बस हादसे के बाद बस संचालन के बड़े सिंडिकेट का खुलासा किया गया है, जिसमें विभागीय अधिकारियों की साठगांठ से इनकार नहीं किया जा सकता है। उन्नाव में जो बस हादसे शिकार हुई है, वह फिटनेस, परमिट के सड़क पर दौड़ रही थी। इस नतीजा यह हुआ कि 18 लोगों ने अपनी जान खो दी। बस महोबा के व्यक्ति के नाम दर्ज थी। इस केस में हैरानी की बात यह है कि जिस शख्स के नाम पर उन्नाव में हादसे के शिकार हुई बस रजिस्टर थी, उसके नाम पहले से ही 38 बसें और रजिस्टर है।

उन्नाव बस हादसे में गई 18 की जान

मिली जानकारी के अनुसार जांच में पता चहा है कि दुर्घटनाग्रस्त बस महोबा जिले के खन्ना थाना क्षेत्र के मवई खुर्द गांव निवासी पुष्पेंद्र सिंह के नाम अस्थाई पते पर रजिस्टर है। शासन से जानकारी मिलने पर मंडल के आरटीओ उदयवीर सिंह अपनी दो सदस्यीय टीम के साथ महोबा आरटीओ विभाग पहुंचे और उन्होंने जब दस्तावेजों को खंगाला तो वह भी यह बात जानकर हैरान रह गए। आखिर कैसे एक ही व्यक्ति पुष्पेंद्र के नाम पर 39 बस रजिस्टर्ड हैं, जो दिल्ली, बिहार, जोधपुर, राजस्थान सहित कई इलाकों पर बिना फिटनेस, परमिट के सड़को पर चल रही है। UP News

ग्रेटर नोएडा में अनोखा अंतिम संस्कार, धूमधाम से निकाली गौ माता की शव यात्रा

ग्रेटर नोएडा – नोएडा की खबरों से अपडेट रहने के लिए चेतना मंच से जुड़े रहें।

देशदुनिया की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए हमें  फेसबुक  पर लाइक करें या  ट्विटर  पर फॉलो करें।

Related Post