Tuesday, 23 July 2024

Political News: भू-माफियाओं के खिलाफ मास्टर विजय का कई विश्व रिकॉर्ड तोड़ने वाला दुनिया का सबसे लंबा धरना, राकेश टिकैत ने किया समर्थन

Muzaffar Nagar Political News: पाठक शायद यकीन ना करें किन्तु यह सच है कि उत्तर प्रदेश में दुनिया का सबसे…

Political News: भू-माफियाओं के खिलाफ मास्टर विजय का कई विश्व रिकॉर्ड तोड़ने वाला दुनिया का सबसे लंबा धरना, राकेश टिकैत ने किया समर्थन

Muzaffar Nagar Political News: पाठक शायद यकीन ना करें किन्तु यह सच है कि उत्तर प्रदेश में दुनिया का सबसे लम्बा धरना चल रहा है। इस धरने को चलते हुए एक-दो साल नहीं बल्कि पूरे 10 हजार दिन हो गए हैं। यह धरना प्रसिद्ध समाजसेवी मास्टर विजय सिंह दे रहे हैं। विजय सिंह की मांग है कि भू-माफियाओं के कब्जे में मौजूद सैकड़ों करोड़ रूपये की जमीन को मुक्त कराया जाए। यह धरना उस योगी राज में भी चल रहा है जिस राज्य में दावा किया जाता है कि भू-माफियाओं पर बुल्डोजर चलाया जाता है। मास्टर विजय सिंह के धरने को सर्च इंजन गूगल विश्व का सबसे लम्बे समय तक चलने वाला धरना बता चुका है। इतना ही नहीं यह धरना लिम्का बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड में भी दर्ज हो चुका है। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता व प्रसिद्ध किसान नेता राकेश टिकैत ने अपने खास अंदाज में इस धरने का समर्थन किया है।]

27 साल से चल रहा है धरना
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में वहां के जिलाधिकारी कार्यालय के सामने दुनिया का सबसे लम्बा धरना चल रहा है। धरना देने वाले का नाम मास्टर विजय सिंह है। मास्टर विजय सिंह 35 वर्ष के थे तबसे धरने पर बैठे हुए हैं। इसी धरने पर मास्टर विजय सिंह पूरे 62 साल के हो चुके हैं। प्रसिद्ध सर्च इंजन गूगल मास्टर विजय सिंह के धरने को विश्व का सबसे बड़ा धरना बता चुका है। इसी प्रकार विश्व रिकार्ड का लेखा-जोखा रखने वाली लिम्का बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड, एशिया बुक ऑफ रिकार्डस, इंडिया बुक ऑफ रिकार्डस समेत दुनिया के सारे रिकार्ड इस धरने के नाम दर्ज हो चुके हैं। मास्टर विजय सिंह ने मुजफ्फरनगर की जिला कचहरी में 26 फरवरी 1996 में धरना शुरू किया था। आज ट्वीट जारी करके भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता व प्रसिद्ध किसान नेता राकेश टिकैत ने अपने अदांज में इस धरने का समर्थन किया है।

Political News: क्या कहा राकेश टिकैत ने
राकेश टिकैत ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर एकाउंट से ट्वीट करके लिखा है कि इन 10 हजार दिनों में यूपी ने 9 CM और मुजफ्फरनगर ने 32 DM देखे लेकिन मास्टर विजय सिंह का इंसाफ के लिए विश्व रिकार्ड तोड़ संघर्ष अन्नव्रत जारी है। मुजफ्फरनगर आंदोलन की धरती है। BKU ऐसे हर संघर्ष का पुरजोर समर्थन करती है। अपने ट्वीट के साथ राकेश टिकैत ने धरना स्थल पर धरने के पोस्टर के साथ खड़े हुए मास्टर विजय सिंह का फोटो भी टैंग किया है।

भू-माफियाओं के खिलाफ है धरना
दरअसल मास्टर विजय सिंह का गांव शामली जिले की ऊन तहसील के अंतर्गत आता है। कुछ वर्ष पहले तक यह गांव मुजफ्फरनगर जिले का हिस्सा था। अब यहां शामली नया जिला बन गया है। अपने गांव के आसपास लगभग डेढ़ सौ करोड़ रूपये कीमत की जमीन को भू-माफियाओं से मुक्त कराने की मांग को लेकर मास्टर विजय सिंह ने मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारी के कार्यालय के सामने धरना शुरू किया था। पिछले 27 सालों में उप्र में 9 मुख्यमंत्री बदले जा चुके हैं। दुर्भाग्य से मास्टर विजय सिंह की आवाज आज तक प्रदेश के किसी मुख्यमंत्री ने नहीं सुनी। मास्टर विजय सिंह का कहना है कि वे अपनी आखिरी सांस तक न्याय की इस लड़ाई को जारी रखेंगे और गांधीवादी तरीके से अपनी बात उठाते रहेंगे।

भू-माफियाओं के खिलाफ सड़कों पर उतरे लाेग, प्रदर्शन कर जताया विरोध, people-protest-against-land-mafia-in-almora

Political News: मुख्यमंत्री योगी पर लगाया वायदा खिलाफी का आरोप
आपको बता दें कि इस समय उप्र में योगी आदित्यनाथ की दूसरी बार सरकार चल रही है। यह सरकार दावा करती है कि प्रदेश में एक भी भू-माफिया बख्शा नहीं जाएगा किन्तु मास्टर विजय सिंह जिन भू-माफियाओं के विरूद्ध दुनिया का सबसे लम्बा धरना दे रहे हैं उन भू-माफियाओं के खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। मास्टर विजय सिंह ने बताया कि 8 अप्रैल 2019 को CM योगी शामली में आये थे। उन्होंने चुनावी सभा में बाकायदा घोषणा की थी कि मास्टर विजय सिंह को जल्द ही न्याय दिलवाया जाएगा। CM योगी ने आज तक अपना वायदा पूरा नहीं किया है। मास्टर विजय सिंह ने यह भी बताया कि वे कई बार लखनऊ जाकर मुख्मयंत्री योगी से मिलने का प्रयास कर चुके हैं। किन्तु उन्हें CM योगी से मिलने नहीं दिया जाता। CM से मिलने के प्रयास में तो एक बार उन्हें पुलिस ने हिरासत में लेकर 5 दिन तक हवालात में भी रखा था।

दुनिया के इस सबसे बड़े धरने की और अपडेट जानने के लिए आप चेतना मंच डॉट कॉम के साथ बने रहें। जल्द ही इस धरने की कुछ और अपडेट आपसे साझा करेंगे।

अगली खबर पड़े

Baba Bageshwar : दर-दर भटकते रहे मीडियाकर्मी, नहीं मिली पंडाल में जगह, अव्यवस्था पर उठाए जा रहे सवाल

Related Post