Tuesday, 23 July 2024

Krishna Janmashtami 2023 : जयंती योग में मनाई जाएगी जन्माष्टमी जानें इसकी सही डेट और शुभ मुहूर्त

Krishna Janmashtami 2023 :   इस वर्ष 6 सितंबर 2023 और 7 सितंबर 2023 को मनाई जाएगी. इसमें 6 तारीख को…

Krishna Janmashtami 2023 : जयंती योग में मनाई जाएगी जन्माष्टमी जानें इसकी सही डेट और शुभ मुहूर्त

Krishna Janmashtami 2023 :   इस वर्ष 6 सितंबर 2023 और 7 सितंबर 2023 को मनाई जाएगी. इसमें 6 तारीख को स्मार्त जन्माष्टमी होगी ओर 7 तारीख को इस्कॉन द्वारा जन्माष्टमी मनाई जाएगी.
janmashtami 2023 date in india
जन्माष्टमी पर्व भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के रुप में देश भर में उल्लास के साथ मनाया जाता है. इस वर्ष मनाई जाने वाली जन्माष्टमी कई मायनों में बेहद खास रहने वाली है. जन्माष्टमी पर बनने वाले विशेष जयंती योग का निर्माण होने से यह समय अत्यंत ही शुभदायक बनेगा.

श्री मद्भागवत एवं भविष्यपुराण इत्यादि के अनुसार भगवान श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि, बुधवार, रोहिणी नक्षत्र एवं चंद्रमा के वृष राशि गोचर के समय पर अर्धरात्रि में हुआ था. इसी अनुसार प्रत्येक वर्ष भाद्रपद माह में कृष्ण पक्ष अष्टमी के दिन इस पर्व को मनाया जाता है. श्री कृष्ण के जन्म समय की स्थितियां हर समय प्राप्त हों यह संभव नहीं है अत: ऎसे में जितने योग भी प्राप्त होते हैं उस अनुसार पर्व को मनाया जाता है. किंतु इस वर्ष कई सारी बातें श्री कृष्ण जन्मोत्सव योग में शामिल होने वाली हैं जिसके चलते यह समय अति विशिष्ट होने वाला है.

इस वर्ष अर्द्धरात्रि व्यापिनी अष्टमी तिथि का संयोग बन रहा है, इसके साथ ही रोहिणी नक्षत्र एवं चंद्रमा का वृषभ राशि गोचर होने का संयोग बन रहा है. इस योग को भी अत्यंत ही शुभ स्थिति दायक माना गया है.निर्णय सिंधु अनुसार अर्द्धरात्रि के समय अगर रोहिणी नक्षत्र में अष्टमी तिथि का संयोजन हो रहा हो तो इस दिन श्री कृष्ण जन्मोत्सव पूजा अर्चना करने से व्यक्ति के जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं.

जन्माष्टमी शुभ मुहूर्त समय 2023 

कृष्ण जन्माष्टमी, 6 सितम्बर 2023 को बुधवार के दिन मनाई जाएगी.
निशिथ पूजा का समय  23:57 से 24:42, (सितम्बर 07)
अष्टमी तिथि आरंभ होगी 06 सितंबर, 2023 को 15:2395 से
अष्टमी तिथि समाप्त होगी 07 सितंबर, 2023 को 16:15 तक 
पारण समय, 07 सितम्बर 2023 को 16:14 के बाद होगा

नक्षत्र 
रोहिणी नक्षत्र आरंभ होगा 06 सितंबर 2023 को 09:21 से
रोहिणी नक्षत्र समाप्त होगा 07 सितंबर, 2023 को 10:25 पर तक.

Krishna Janmashtami 2023 इस्कॉन जन्माष्टमी पूजा मुहूर्त

इस्कॉन कृष्ण जन्माष्टमी 07 सितम्बर, 2023 को बृहस्पतिवार के दिन होगा
निशिता पूजा का समय  23:56 से 24:42, सितम्बर 08 रहेगा
इस्कॉन के अनुसार पारण समय, 08 सितम्बर 06:02, के बाद रहेगा

रोहिणी नक्षत्र का समाप्ति काल 07 सितंबर 2023 को 10:25 तक होगा, पारण के दिन पारण के दिन अष्टमी तिथि का समाप्ति समय 16:14 का होगा. भारत में कई स्थानों पर, पारण निशिता यानी मध्यरात्रि के बाद किया जाता है

Krishna Janmashtami 2023 जयन्ती योग में मनेगी कृष्ण जन्माष्टमी 

इस वर्ष जन्माष्टमी का पर्व जयन्ती योग में मनाया जाएगा. धर्म ग्रंथों के अनुसार जन्माष्टमी यदि रोहिणी नक्षत्र के योग से युक्त हो तो जयंती कहलाती है. इस समय पर बुधवार के योग का आगमन इसे और भी शुभदायक बना देने वाला होता है

इस पर्व का संबंध केवल भारत वर्ष में ही नहीं है अपितु यह व्रत भारत से निकल विश्व के अनेक देशों में भी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है. जन्माष्टमी उत्सव का दिन भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी के दिन संपन्न होता है, क्योंकि भगवान श्री कृष्ण ने इस दिन ही पृथ्वी पर जन्म लेकर संसार को भय मुक्त किया था और अपने संपूर्ण जीवन में उन्होंने जीवन और सृष्टि के महत्व  को भी दर्शाया था.
एस्ट्रोलॉजर राजरानी

Purushottam Maas 2023 : शुरु हुआ पुरुषोत्तम मास, इन चीजों का दान करने से मिलेगी हरि कृपा 

Related Post